दिल्ली टेस्ट : टीम का हाल बेहाल लेकिन श्रीलंकाई कॉलेज के लिए खास पल

भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में श्रीलंका के लिए कुछ भी अच्छा नहीं रहा है. पहले टेस्ट के ड्रॉ होने के बाद भारत ने उसे दूसरे टेस्ट में पारी और 239 रनों के रिकॉर्ड अंतर से हराया. तीसरे टेस्ट के पहले दिन भी श्रीलंकाई गेंदबाजी भारतीय बल्लेबाजों को रोकने में असफल रही और पहले दिन सिर्फ 4 विकेट ही ले पाई जबकि भारत ने 371 रन बना लिए हैं. एक तरफ टीम का हाल बेहाल रहा लेकिन श्रीलंका के एक कॉलेज के लिए दिन काफी गौरवशाली रहा. फिरोजशाह कोटला मैदान पर जब पहले दिन श्रीलंकाई टीम गेंदबाजी करने उतरी तो श्रीलंका का सेंट जोसेफ कॉलेज काफी खुश हो गया. तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट में कॉलेज के चार खिलाडियों को एक साथ अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला.

शनिवार को श्रीलंका की ओर से मैदान पर उतरे पूर्व कप्तान और अनुभवी एंजेलो मैथ्यूज, सलामी बल्लेबाजों दिमुथ करूणारत्ने और सदीरा समरविक्रम के अलावा बल्लेबाज रोशन सिल्वा इस कालेज के छात्र रहे हैं. यह पहला मौका है जब श्रीलंका की टेस्ट टीम में एक ही कॉलेज के चार खिलाडी खेल रहे हैं.

रोशन सिल्वा अपने करियर का पहला अंतरराष्टीय मैच खेल रहे हैं और आज बल्लेबाजी कोच तिलन समरवीरा ने उन्हें टेस्ट कैप सौंपी.

मैथ्यूज, करूणारत्ने और समरविक्रमा अब तक उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं लेकिन अब यह देखना होगा कि दिल्ली में यह चौकडी क्या रंग जमाती है.

कोटला मैदान पर फिर नजर आया कुत्ता

भारत और श्रीलंका के बीच मैच की शुरूआत से पहले ही मैदान पर एक कुत्ता घुस आया जिस पर शुरूआत में किसी का ध्यान नहीं गया. इस समय अधिकांश खिलाडी वार्म अप के बाद डेसिंग रूम में लौट चुके थे.

कुत्ता मैदान पर हालांकि ज्यादा देर नहीं टिका और इससे पहले कि मैदानकर्मी उसे बाहर निकालते वह स्वयं ही बाहर चला गया.

यह पहला मौका नहीं है जब मैच के दौरान फिरोजशाह कोटला मैदान पर कोई कुत्ता घुस आया हो. इससे पहले भी कई बार ऐसा नजारा देखा जा चुका है.

अक्तूबर 2008 में तो भारत और ऑस्टेलिया के बीच यहां खेले जा रहे टेस्ट मैचों को मधुमक्खियों के कारण कुछ देर के लिए रोकना पडा था.

और खबरें पढ़ें