बड़ी खबरें

IND vs SL: धवन की शतकीय पारी के साथ सीरीज भारत के नाम

नई दिल्ली: मैन ऑफ द मैचकुलदीप यादव और युजवेन्द्र चहल के कमाल के बाद मैन ऑफ द सीरीज शिखर धवन की नाबाद शतकीय पारी(100*) की बदलौत भारतीय क्रिकेट टीम ने फाइनल बन चुके तीसरे और अंतिम वनडे में श्रीलंका को 8 विकेट से हरा दिया. श्रीलंका को 215 रनों पर समेटने के बाद टीम इंडिया ने दो विकेट खोकर 107 गेंद पहले हासिल कर लिया. दिनेश कार्तिक(26 नाबाद) ने धनंजय सिल्वी की गेंद पर चौका लगाकर सीरीज भारत के नाम किया. धर्मशाला में खेले गए पहले वनडे में भारत को शर्मनाक हार झेलनी पड़ी थी लेकिन उसके बाद रोहित शर्मा की अगुवाई में टीम ने मोहाली और विशाखापट्टनम में शानदार खेल दिखाते हुए सीरीज अपने नाम कर लिया. 216 के आसान लक्ष्य को हासिल करने उतरी भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही. दूसरे वनडे में तीसरा दोहरा शतक लगाने वाले कप्तान रोहित शर्मा सिर्फ सात रन बनाकर पवलेयन लौट गए लेकिन उसके बाद धवन और श्रेयस अय्यर(65) ने दूसरे विकेट के लिए 15 रनों की साझेदारी कर जीत की कहानी लिख दी. अय्यर ने लगातार दूसरे वनडे में अर्द्धशतक लगाया लेकिन एक बार फिर अपनी पारी को शतक में नहीं बदल पाए. दूसरी तरफ बेहतरीन फॉर्म में चल रहे धवन ने अपनी पारी वहीं से शुरू की जहां उन्होंने मोहाली में खत्म की. 85 गेंद की अपना पारी में धवन ने 13 चौके और दो बेहतरीन छक्के लगाए. अपनी शतकीय पारी के दौरान वो 4000 रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बने. भारत की ओर से कोहली के बाद धवन सबसे तेज 4000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने.भारत ने इस तरह से लगातार आठवीं बार दो देशों के बीच खेली गई वनडे सीरीज जीती और श्रीलंका के खिलाफ होम ग्राउंड पर कोई सीरीज नहीं गंवाने का अभियान जारी रखा. धर्मशाला में पहला वनडे जीतने वाले श्रीलंका के पास भारत में पहली बार सीरीज जीतने का बेहतरीन मौका था लेकिन फिर से उसके बल्लेबाजों ने उसे निराश किया. श्रीलंका 1997 के बाद से भारत के खिलाफ सीरीज नहीं जीत पाया है.भारत ने इससे पहले श्रीलंका से टेस्ट सीरीज 1-0 से जीती थी. अब इन दोनों टीमों के बीच टी20 सीरीज खेली जाएगी जिसका पहला मैच 20 दिसंबर को कटक में खेला जाएगा. इससे पहले भारत के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और अंत में यह फैसला सही साबित हुआ. उपुल थंरगा (95) और सादिरा सामराविक्रमा (42) ने दूसरे विकेट के लिए 121 रनों की साझेदारी को छोड़ दें तो एक भी पल ऐसा नहीं आया जिससे कप्तान रोहित परेशान होते.भारतीय गेंदबाजों ने थरंगा और समाराविक्रमा की साझेदारी को तोड़ते हुए मैच में वापसी की और श्रीलंका को 44.5 ओवरों में 215 रनों पर ढेर कर दिया. भारत के लिए युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने तीन-तीन विकेट लिए. हार्दिक पांड्या ने दो विकेट लिए. भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को एक-एक विकेट मिला.15 रनों के कुल स्कोर पर बुमराह ने जब दानुष्का गुणाथिलका (13) को पवेलियन भेजा तो लगा की भारतीय गेंदबाज दूसरे मैच की तरह ही श्रीलंकाई विकटों की झड़ी लगा देंगे, लेकिन थरंगा ने अपने अनुभव का बखूबी इस्तेमाल किया और समाराविक्रमा के साथ पारी को संभाला. थरंगा ने हार्दिक पांड्या द्वारा फेंके गए पारी के नौवें ओवर में लगातार पांच चौके जड़े. इसके बाद उन्होंने अपना अर्द्धशतक पूरा किया, लेकिन वह अपने शतक से पांच रनों से चूक गए. 82 गेंदों पर 12 चौके और तीन छक्के मारने वाले थरंगा कुलदीप की गेंद पर महेंद्र सिंह धौनी द्वारा स्टम्प कर दिए गए. थरंगा ने इस साल वनडे में अपने 1000 रन पूरे किए. वह इस साल ऐसा करने वाले तीसरे बल्लेबाज बने. उनसे पहले विराट कोहली और रोहित शर्मा ने ऐसा किया है. थरंगा 160 के कुल स्कोर पर आउट हुए. उनसे पहले चहल ने समाराविक्रमा को अर्द्धशतक पूरा नहीं करने दिया और 136 के कुल स्कोर पर शिखर धवन के हाथों कैच कराया. इन दोनों बल्लेबाजों के जाने के बाद श्रीलंकाई पारी संभल नहीं पाई और लगातार विकेट खोती रही. श्रीलंका ने अपने सात विकेट महज 55 रनों में ही खो दिए.दूसरे मैच में शतक लगाने वाले एंजेलो मैथ्यूज (17) को चहल ने बोल्ड किया. निरोशन डिकवेला (8) को कुलदीप ने श्रेयस अय्यर के हाथों कैच कराया. कप्तान थिसारा परेरा (6) को चहल ने पगबाधा आउट कराया.सचिथा पाथिराना (7) को पांड्या ने 208 रनों के कुल स्कोर पर आउट किया. दो रन बाद अकिला धनंजय (1) को कुलदीप ने बोल्ड किया. पांड्या ने सुरंगा लकमल और भुवनेश्वर ने असेला गुणारत्ने (17) को आउट कर श्रीलंकाई पारी का अंत किया.

बाज से भी तेज है धोनी की आंखें !

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ खेले जा रहे तीसरे वनडे मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर विकेट के पीछे गजब की फुर्ती दिखाई. मैच के 27वें ओवर की पहली गेंद पर धोनी ने उपुल थरंगा को स्टंप आउट कर सबको हैरान कर दिया. विकेट के पीछे धोनी इतने तेज थे कि थरंगा को कुछ भी सोचने का मौका नहीं मिला. इस हैरान कर देने वाले स्टंप आउट को देखकर धोनी की तुलना बाज की आखों से की जा रही है. Dhoni stumping out of no where pic.twitter.com/XiHxBmFh7Z — anshul kothari (@slimshady_ansh) December 17, 2017 थरंगा 95 रन बनाकर आउट हुए. वनडे करियर में ऐसा पहली बार हुआ है कि थंरगा 90 के पार रन बनाकर आउट हुए हैं. इसके साथ ही थरंगा ने एक कैलेंडर ईयर में अपने 1000 रन भी पूरा किया. थरंगा ने साल 2017 में 25 मैचों में 52.20 के औसत से 1004 रन बनाए हैं जिसमें छह शतक भी शामिल हैं. इस लिस्ट में सबसे उपर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली हैं. विराट इस पूरे साल में 1460 रन चुके हैं. विशाखापट्टनम में खेले जा रहे इस निर्णायक मुकाबले में भारत को हर हाल में जीत दर्ज करना ही होगा. इससे पहले धर्माशाला में खेले गए पहले वनडे मैच में श्रीलंका की टीम जीत दर्ज की थी जबकि मोहाली में टीम इंडिया ने वापसी करते हुए मैच जीतकर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली.

तीन बड़े रिकॉर्ड को तोड़ने से चूके रोहित शर्मा

नई दिल्ली: पिछले मैच की ही तरह उम्मीद थी कि रोहित शर्मा आज फिर से एक बड़ी पारी खेलेंगे. साल का आखिरी वनडे खेल रहे रोहित सिर्फ 7 रन बनाकर आउट हो गए जिसमें एक छक्का भी शामिल था. रोहित के आउट होते ही सभी उम्मीदों पर पानी फिर गया. आज के मैच में रोहित के पास मौका था कि वे कई रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते थे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका. 50 छक्के लगाने का था मौका रोहित शर्मा ने 2017 में 21 मैचों में 46 छक्का लगाया और 50 के आंकड़ें से महज महज़ 4 छक्का पीछे रहे गए. भारतीय वनडे क्रिकेट के इतिहास में कोई भी बल्लेबाज़ एक साल में 50 छक्के नहीं लगा सका है. एक साल में सबसे ज्यादा सिक्स लगाने का रिकॉर्ड साउथ अफ्रीका के एबी डिविलियर्स के नाम है, जिन्होंने 2015 में 58 सिक्स लगाए हैं. नहीं कर सके डेविड वॉर्नर के रिकॉर्ड की बराबरी: रोहित शर्मा के मौका था कि वे एक पिछले दो सालों में सबसे अधिक शतक लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम करे. रोहित ने साल 2015 से अबतक में कुल 11 शतक लगया है. इस लिस्ट में सबसे पहला नाम ऑस्ट्रेलियाई बैट्समैन डेविड वॉर्नर का है. वॉर्नर ने पिछले दो सालों में 12 शतकों के साथ नंबर वन हैं. हालांकि भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी साल 2015 से अब तक 11 शतक लगाए हैं.

IND vs SL विशाखापट्टनम वनडे: 215 पर बंधा श्रीलंका का पुलिंदा

नई दिल्ली: तीसरे और निर्णायक मुकाबले में दूसरे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी के बाद श्रीलंकाई पारी एक बार फिर लड़खड़ा गई. 136 पर दूसरे विकेट के गिरने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने श्रीलंका को वापसी का एक भी मौका नहीं दिया और पूरी टीम को 44.5 ओवर में 215 रनों पर ढेर कर दिया. रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली बार खेल रही टीम इंडिया को सीरीज जीतने के लिए 216 रनों की जरूरत है.टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंका की शुरुआत खराब रही. टीम के स्कोर में 15 रन ही जुटे थे कि चौथे ओवर की चौथी गेंद पर जसप्रीत बुमराह ने दानुष्का गुणाथिलका को कप्तान के हाथों मिड ऑन पर कैच करा कर सपाट पिच पर टीम को पहली सफलता दिलाई. लेकिन इसके बाद भारतीय गेंदबाजों को विकेट लेने में 22.3 ओवर तक इंतजार करना पड़ा. इस बीच उपुल थरंगा और सदीरा समराविक्रमा ने दूसरे विकेट के लिए 121 रनों की साझेदारी कर डाली. अर्द्धशतक की ओर बढ़ रहे समराविक्रमा को चहल ने शिखर धवन के हाथों कैच करा कर कप्तान के चेहरे पर सिकन को खुशी में बदला. तीसरे विकेट के लिए थंरगा ने एंजेलो मैथ्यूज के साथ पारी आगे बढ़ाने की कोशिश की लेकिन शतक से पांच रन पहले महेन्द्र सिंह धोनी की तेज स्टंपिग से नहीं बच पाए. 160 रन पर तीसरे विकेट के गिरने के बाद श्रीलंकाई पारी पूरी तरह लड़खड़ा गई. थरंगा ने 82 गेंद की पारी में 12 चौके और 3 छक्के लगाए और इस दौरान साल 2017 में 1000 रन भी पूरे किए. ओवर की पहली गेंद पर कुलदीप ने थरंगा को आउट करने के बाद भारत को एक और सफलता पांचवीं गेंद पर दिलाई. दो बाउंड्री लगाने के बाद डिकवेला बाहर जाती गेंद को स्लिप में खड़े श्रेयस अय्यर के हाथों में खेल गए. इसके बाद विकेट गिरने का सिलसिला 45वें ओवर में रुका जब टीम 215 रन पर ऑल आउट हो गई. श्रीलंका के सात बल्लेबाज मिलकर सिर्फ 55 रन ही जोड़ पाए.भारत की ओर से स्पिन जोड़ी(कुलदीप - 42 पर 3, चहल 46 पर 3) ने छह विकेट लिए तो वहीं हार्दिक पांड्या ने दो और भुवनेश्वर के साथ बुमराह ने एक-एक विकेट लिए.

तस्वीरें

वीडियो

हिट खिलाड़ी

ब्लॉग

ओपीनियन पोल